टॉप न्यूज़शहर और राज्य

पहली जुलाई से स्कूल-कालेज खोलने की तैयारी, ऑनलाइन ही होगी पढ़ाई

कोरोना संक्रमण कम होते ही बाजार-हाट खुल गए। अब शैक्षणिक संस्थान संस्थान भी खोलने की तैयारी चल रही है। कार्यालयों में सभी कर्मचारियों की उपस्थिति अब अनिवार्य है। वहीं पहली जुलाई से स्कूल-कालेज भी खुल खोलने की तैयारी चल रही है। ऐसे में विद्यालयों में अध्यापकों की पहली जुलाई से अनिवार्य होगी। हालांकि पढ़ाई पहले की भांति ऑनलाइन ही होगी।

प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों का नया सत्र पहली अप्रैल से ही शुरू हो गया था लेकिन कोरोना महामारी के चलते अब तक दाखिले की प्रक्रिया तक पूरी नहीं हो सकह है। इसे देखते हुए बेसिक शिक्षा विभाग ने जुलाई से स्कूल चलो अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके लिए रूपरेखा भी बनानी शुरू कर दी है। इसके तहत अध्यापक घर-घर जाकर बच्चों नामांकन का कराएंगे।वहीं माध्यमिक विद्यालयों में भी दाखिला के तैयारी की जा रही है। जनपद के तमाम विद्यालयों में विभिन्न कक्षाओं में अब तक 50 फीसद भी दाखिला नहीं हो सका है। सबसे खराब स्थिति कक्षा-छह में है। वहीं हाईस्कूल के रिजल्ट के अभाव में कक्षा नौ में भी दाखिला अटका हुआ है। ऐसे में स्कूल-कालेजों की पहली प्राथमिकता दाखिला पूर्ण करना है।

विश्वविद्यालयों में इन दिनों स्नातक व स्नातकोत्तर की परीक्षाओं की तैयारी चल रही है। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में 15 जुलाई से संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में 29 जुलाई से परीक्षाएं होनी है। विद्यापीठ में स्नातक व स्नातकोत्तर द्वितीय, चतुर्थ व छठे सेमेस्टर के संस्थागत व व्यक्तिगत परीक्षार्थी 30 जून तक ऑनलाइन परीक्षा फार्म भर सकते हैं। छात्र आवेदन की हार्ड कापी संबंधित कालेजों में एक जुलाई तक जमा कर सकते हैं। संबद्ध कालेजों को तीन जुलाई तक विश्वविद्यालय के खाते में ऑनलाइन परीक्षा शुल्क जमा करना होगा। एप्रुब्ड परीक्षा फार्म की हार्ड कापी संबद्ध कालेज पांच जुलाई तक विश्वविद्यालय में जमा कर सकते हैं। दूसरी ओर वाराणसी सहित पांच जिलाें के संबद्ध कालेजों को वर्ष 2021 का परीक्षा शुल्क विश्वविद्यालय के खाते में जमा कराने का निर्देश दिया गया है। बहरहाल दोनों विश्वविद्यालय ने 30 अगस्त तक रिजल्ट घोषित करने का लक्ष्य रखा है। कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार भी नया सत्र 15 सितंबर से शुरू करने की योजना है। काशी विद्यापीठ के स्नातक, स्नातकोत्तर, व्यावसायिक, एमफिल व डिप्लोमा के विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिले की परीक्षा अगस्त से प्रथम सप्ताह में कराने का प्रस्ताव है। प्रवेश परीक्षाओं को लेकर अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के स्नातक (यूजी) द्वितीय व तृतीय खंड तथा स्नातकोत्तर (पीजी) प्रथम व अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं 15 जुलाई से तीन पालियों में कराने का निर्णय लिया है। वहीं स्नातक व स्नातकोत्तर के परीक्षा फार्म भरने का अब भी मौका है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button