अध्यात्म

Basant Panchami /Saraswati Puja/ 2022 मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए जरूर अर्पित करें ये 5 चीजें, मानी गई हैं शुभ

शनिवार, 05 फरवरी को बसंत पंचमी का पर्व है। माघ महीने की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर बसंत पंचमी का त्योहार बड़े ही उत्साह और जोश के साथ मनाया जाता है।सो हिन्दू मतावलंबी इसे धूमधाम से मनाते हैं। बसंत पंचमी पर्व विशेष रूप से बुद्धि व विद्या की अधिष्ठात्री मां सरस्वती को समर्पित होता है। इस अवसर पर मां शारदे की विशेष आराधना की जाती है। इसके अलावा इस दिन कामदेव की भी आराधना का भी विधान है। पौराणिक मान्यता के अनुसार माघ शुक्ल पंचमी को ज्ञान की देवी मां सरस्वती का अवतरण हुआ था। इसी के कारण इस दिन विधि-विधान से देवी सरस्वती की पूजा की जाती है।

ऐसी मान्यता है कि माघ माह पंचमी तिथि पर मां सरस्वती प्रकट हुई थीं। बसंत पंचमी पर मां सरस्वती की विशेष रूप से पूजा-आराधना होती है। मां सरस्वती को संगीत, कला, वाणी, विद्या और ज्ञान की अधिष्ठात्री देवी माना गया है। इस दिन विद्या आरंभ करने से ज्ञान में वृद्धि होती है।

बसंत पंचमी को अबूझ मुहूर्त कहा जाता है और दिन कोई भी शुभ कार्य बिना मुहूर्त के संपन्न किया जा सकता है। बसंत पंचमी के दिन विवाह करना बहुत ही शुभ माना जाता है इसी कारण से बड़ी संख्या में इस दिन विवाह कार्यक्रम संपन्न किए जाते हैं। इसके अलावा बसंत पंचमी के दिन किसी नए काम का आरंभ करना शुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन किसी नए व्यवसाय, गृह प्रवेश और शुभ कार्य आरंभ करने से सब मंगलमय होता है। बसंत पंचमी के दिन माता सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए कई चीजों को अर्पित किया जाता है। आइए जानते हैं कौन-कौन सी प्रमुख चीजें जिसे अर्पण कर मां का आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता है।

1- बसंत पंचमी पर्व पर पीले रंग की चीजों का विशेष महत्व होता है। इस दिन पीले रंग का वस्त्र पहनकर मां सरस्वती की पूजा अवश्य करनी चाहिए।

2- सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद पूजा स्थल पर मां सरस्वती की प्रतिमा स्थापित कर उन्हें पीले रंग का वस्त्र अर्पित करें।

3-  देवी सरस्वती को पीले और सफेद रंग का फूल बहुत ही प्रिय होते हैं इसलिए बसंत पंचमी के दिन इस तरह के फूल उन्हें जरूर चढ़ाना चाहिए।

4- शास्त्रों के अनुसार मां सरस्वती विद्या और ज्ञान की देवी हैं ऐसे में बसंत पंचमी पर देवी सरस्वती की पूजा के दौरान उन्हें पेन और पुस्तक जरूर अर्पित करना चाहिए। ज्योतिष में मान्यता है इससे बुध ग्रह मजबूत होता है और व्यक्ति की कुंडली में अगर बुध ग्रह से संबंधित किसी प्रकार का कोई दोष है वह जल्द ही दूर हो जाता है।

5- पूजा में मां सरस्वती को पीले रंग का चंदन और पीला भोग जरूर अर्पित करें। ऐसा करने से विद्या और ज्ञान की देवी मां सरस्वती जल्द प्रसन्न होती हैं और गुरु ग्रह भी मजबूत होता है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button