टॉप न्यूज़देश

रहस्यमयी रोशनी का सच: उल्का पिंड समझकर घबरा गए लोग

यह नजारा आसमान में दिखा, लोगों का कहना है कि उन्होंने कई चमकीली रेखाएं देखीं। इसके बाद कयास लगाए जाने लगे कि यह उल्का पिंडों की बारिश हो सकती है महाराष्ट्र व मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में रात के अंधेरे में एक रहस्यमयी रोशनी दिखाई दी। इस रहस्यमयी रोशनी को लोगों ने अपने कैमरे में भी कैद किया और सोशल मीडिया पर डाल दिया। हालांकि, वैज्ञानिकों का दावा है कि ये चीनी रॉकेट के अंश थे।
महाराष्ट्र के नागपुर, चंद्रपुर, अकोला व जलगांव  के अलावा मध्य प्रदेश के इंदौर, खरगौन, झाबुआ में कई जिलों में लोगों ने रात को आसमान में रहस्यमयी रोशनी देखने का दावा किया। इसके बाद लोगों में अफवाह फैल गई कि यह उल्का पिंडों की बारिश है या फिर गिरता हुआ सैटेलाइट। अमेरिकी वैज्ञानिक जोनाथन मैकडॉवल ने ट्वीट कर बताया कि, यह चीन का रॉकेट चेंग झेन 3बी था।
अमेरिकी वैज्ञानिक जोनाथन मैकडॉवल ने बताया कि, चीनी रॉकेट धरती के वातावरण में फिर से दाखिल हो रहा था। इसे पिछले साल फरवरी में छोड़ा गया था।  धरती की तरफ वापस गिरते हुए इसके कुछ हिस्से वातावरण में संपर्क में आने से जल उठे थे। उन्होंने कहा कि, मेरे अनुसार, ये चमकीली रेखाएं उसी चीनी रॉकेट के जलने से पैदा हुई थीं।

येओला के तहसीलदार प्रमोद हिले ने बताया कि, रात करीब 8 बजे आसमान में एक उल्कापिंड दिखाई दे रहा था। मैंने इसे खुद देखा। इसकी दिशा उत्तर से पूर्व की ओर थी। यह चार भागों में बंट गया। उन्हाेंने कहा कि, इससे कोई नुकसान नहीं हुआ है और डरने की कोई बात नहीं है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button